Jabalpur News: राखी के पर्व पर दहेज लोभियों ने भाई से जुदा की बहन, दहेज के लगे आरोप, मां-बच्चे की मौत

Rashtrabaan

जबलपुर, राष्ट्रबाण। पूरे भारत में बुधवार को रक्षाबंधन का पर्व धूमधाम एवं हर्षोल्लास के साथ मनाया गया, लेकिन इस पावन पर्व के दौरान दहेज लोभियों ने एक भाई से उसकी बहन जुदा कर दी। दरअसल रक्षाबंधन के ठीक एक दिन पहले भाई ने अपनी उस बहन को खो दिया, जिसे वह सबसे ज्यादा चाहता था। घटना कटंगी की है जहां एक नवविवाहिता की मौत हो गई, इतना ही नही गर्भ में पल रहें बच्चे ने भी दम तोड़ दिया। युवती के परिवार वालों का आरोप है कि दहेज के लिए उसे इतना मारा कि उसकी मौत हो गई। तिलहरी में रहने वाले दिनेश मौर्य ने डेढ़ साल पहले अपनी बहन रंजना की कटंगी में राजेश से शादी करवाई थी। अपनी हैसियत के अनुसार दहेज भी जितना हो सका वो दिया। पर ससुराल वालों की हमेशा डिमांड रही कि और दहेज अपने घर से लेकर आओ। करीब चार दिन पहले गर्भवती रंजना के साथ फिर से पति और ससुराल वालों ने मारपीट की। जानकारी जब दिनेश को लगी तो वह कटंगी पहुंचा और रंजना को इलाज के लिए मेडिकल कालेज ले आया। इलाज के दौरान पहले गर्भ में पल रहें बच्चे की मौत हो गई, और फिर रंजना की। नवविवाहिता के परिवार वालों का आरोप है कि ससुराल पक्ष के लोगों ने दहेज की मांग के चलते इतना प्रताड़ित किया कि, उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई। दरअसल शादी के बाद से लगातार ससुराल पक्ष के लोग उस पर दहेज लाने के लिए दबाव बना रहे थे। रंजना ने जब इसका विरोध किया तो पति सहित सास,ननंद और अन्य लोग मारपीट करने लगें। इसी बीच रंजना गर्भवती हो गई। ससुराल वालों ने रंजना से कहा कि पहले मायके से इलाज के लिए पैसे लेकर आ तभी इलाज होगा। रंजना मौर्या ने जब अपने पिता के पास पैसे ना होने की बात ससुराल के लोगों से की, तो इस पर वे क्रोधित हो गए और उसके साथ जमकर मारपीट करनी शुरू कर दी। मृतिका के परिजनों की शिकायत पर परिवार के अन्य लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई गई है। जिसकी जांच में पुलिस जुट गई है।

- Advertisement -

Share This Article
Leave a comment
error: Content is protected !!